दिलों पर राज करने वाले अरबपति ‘रतन टाटा’ जीते हैं आम आदमी जैसा जीवन, देखिये तस्वीरें

रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर 1937 मुम्बई, महाराष्ट्र में हुआ । रतन टाटा भारत के एक उद्योगपति हैं । ये टाटा समूह के पूर्व अध्यक्ष, जो भारत की सबसे बड़ी व्यापारिक समूह है । कैपियन स्कूल में शुरूआती पढ़ाई करने के बाद कार्निल यूनिवर्सिटी लंदन से आर्किटेक्चर एंड स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की ।इसके बाद हार्वड विश्वविद्यालय से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम का कोर्स किया ।



रतन टाटा 1990 से 2012 तक टाटा ग्रूप के चेयरमैन रहे, वहीं 2016 से 2017 तक इंटरिम चेयरमैन रहे ।रतन टाटा की अगुवाई में टाटा ग्रूप ने नई ऊँचाईयो को छुआ 
रतन टाटा नवल टाटा के बेटे हैं । नवल टाटा के बच्चों में रतन टाटा, जिम्मी टाटा और नोएल टाटा शामिल हैं ।

1971 में रतन टाटा को राष्ट्रीय रेडियो एंड इलेक्ट्रॉनिक कंपनी लीमिटेड का डायरेक्टर इन चार्ज नियुक्त किया गया । उस वक़्त कंपनी बेहद ज़्यादातर वित्तीय कठिनाइयों का सामना कर रही थी । रतन टाटा ने सुझाव दिया कि कंपनी को उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक के बजट उच्च प्रौद्योगिकी उत्पादों में निवेश करना चाहिए ।

रतन के नेतृत्व में टाटा समूह ने नई ऊँचाइयों को छुआ उनके नेतृत्व में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज़ ने पब्लिक इश्यू जारी किया और टाटामोटर्स न्यूयार्क स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया गया सन् 1998 में टाटा मोटर्स ने पहली पूर्णतः भारतीय यात्री कार टाटाइंडिकाको पेश किया तत्पश्चात् टाटा जी ने टेटली , टाटा मोटर्स नेजैगुआर लैंड रोवरऔर टाटा स्टील नेकोरसका अधिग्रहण कियाजिसमें टाटा समूह की साख भारतीय उद्योग जगत में बहुत बढ़ी टाटा नैनोंदुनिया की सबसे सस्ती यात्रा कार साबित हुई

1997 में रतन टाटा को Empress Mills सोंपा गया । यह टाटा नियंत्रित कपड़ा मिल थी । जब उन्होंने कंपनी का कार्यभार सँभाला तो यह टाटा की बीमार इकाइयों में से एक थी ।

हाल ही मेँ रतन टाटा जी ने अपना 84th जन्मदिन इतनी सादगी भरे अंदाज़ मेँ सेलिब्रेट किया

रतन टाटा का सपना था कि 1 लाख की क़ीमत की कार बनाई जाए । नई दिल्ली में एक्सपो ने यह सपना पूरा कर दिया । 10 जनवरी 2007 को टाटा नैनो के तीन मॉडल की घोषणा की गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.