कार दुर्घटना के बाद ऋषभ पंत ने BCCI और अपने चाहने वालों को दिया दिल से धन्यवाद।

दोस्तों पिछले साल 30 दिसंबर को एक भयानक कार दुर्घटना में बाल-बाल बचे भारत के प्रमुख विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने सोमवार को उस दुर्घटना के बाद अपना पहला आधिकारिक बयान दिया और कहा कि वह कुछ दिन पहले सफल तीन सर्जरी के बाद ठीक होने की राह पर हैं. पंत पिछले साल 30 दिसंबर को राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर एक भयानक कार दुर्घटना में बाल-बाल बचे थे जब वह दिल्ली से रुड़की अपने घर वापस जा रहे थे.

उन्हें पहले देहरादून के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया और फिर मुंबई स्थानांतरित कर दिया गया जहां उनकी तीन सर्जरी हुई – दो घुटने की और एक टखने की. उनके एक साल तक बाहर रहने की संभावना है. पंत ने ट्वीट किया, ‘‘मैं सभी समर्थन और शुभकामनाओं के लिए आभारी हूं. मुझे आपको यह बताते हुए खुशी हो रही है कि मेरी सर्जरी सफल रही. उबरने का सफर शुरू हो गया है और मैं आगे की चुनौतियों के लिए तैयार हूं.बीसीसीआई, जय शाह और सरकारी अधिकारियों को उनके अविश्वसनीय समर्थन के लिए धन्यवाद.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपने दिल की गहराई से अपने सभी प्रशंसकों, टीम के साथियों, डॉक्टरों और फिजियो को आपके शब्दों और प्रोत्साहन के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं. आप सभी को मैदान पर देखने के लिए उत्सुक हूं.’’ पंत दुर्घटना के बाद कुछ मिनटों के लिए बेहोश हो गए थे. इसके बाद कुछ स्थानीय लोगों ने उन्हें पास के अस्पताल में पहुंचाया. उन्होंने मदद के लिए दो युवकों रजत और निशु को धन्यवाद दिया.

उन्होंने कहा, ‘‘हो सकता है कि मैं व्यक्तिगत रूप से सभी को धन्यवाद नहीं दे पाया लेकिन मुझे इन दो हीरो की सराहना करनी चाहिए जिन्होंने दुर्घटना के दौरान मेरी मदद की और सुनिश्चित किया कि मैं सुरक्षित रूप से अस्पताल पहुंचू. रजत कुमार और निशु कुमार, धन्यवाद. मैं हमेशा आभारी और ऋणी रहूंगा.पच्चीस वर्षीय पंत को लिगामेंट की मांसपेशियों में चोट लगी थी और बीसीसीआई उन्हें देहरादून से एयर एंबुलेंस में मुंबई लाया. बाद में बीसीसीआई के पैनल में शामिल सर्जनों में से एक डॉ. दिनशॉ परदीवाला की देखरेख में उनका ऑपरेशन किया गया. पंत पहले ही आईपीएल से बाहर हो चुके हैं और यह पता चला है कि वह अक्टूबर-नवंबर में भारत में एकदिवसीय विश्व कप सहित 2023 के अधिकांश हिस्से से बाहर रहेंगे. यह विकेटकीपर-बल्लेबाज पिछली बार दिसंबर में बांग्लादेश में दो टेस्ट मैच की श्रृंखला में खेला था और उन्हें श्रीलंका के खिलाफ सफेद गेंद की घरेलू श्रृंखला के लिए आराम दिया गया था.

Related Posts