अपनी माँ के अंतिम संस्कार के तुरंत बाद डायरेक्टर आनंद एल राय की मां के अंतिम संस्कार में पहुंचे अक्षय ,हो चुकी है ऐसी हालत

बीते दिनों जहां एक मां ने अपना बेटा खो दिया वहीं अब एक बेटा अपनी मां से जुदा हो गया है.बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने अपनी मां अरुणा भाटिया को खो दिया है जिसके बाद फ्यूनरल प्लेस से उनकी कुछ तस्वीरें सामने आई हैं.मायूस मन से अक्षय कुमार अपनी पत्नी के साथ गाड़ी में बैठे नज़र आए.लेकिन आज के ही दिन अक्षय को एक और फ्यूनरल अटेंड करना पड़ा जो कि उनके लिए बेहद ही दुख भरा था.

अपनी माँ को खोने का गम आँखों में लिए हुए अक्षय कुमार आज अपने करीबी दोस्त और डायरेक्टर आनंद एल राय के घर नज़र आए.दरअसल आज आनंद एल राय की मां का भी निधन हो गया.जिसके चलते अक्षय कुमार को आज के दिन दो फ्यूनरल प्लेस पर जाना पड़ा. जिसके बाद अक्षय को नम आँखों के साथ देखा गया.आनंद एल राय के साथ उनके भाई रवि राय भी अपनी माँ के निधन पर गम में डुबे नज़र आए.

आनंद एल राय ने हाल ही में अक्षय कुमार की फिल्म अतरंगी रे और रक्षाबंधन की शूटिंग का पहला शेड्यूल पूरा किया है. अक्षय कुमार और आनंद के बीच बेहद गहरी दोस्ती नज़र आती है.आनंद ने अतरंगी रे फिल्म में अक्षय के साथ-साथ सारा अली खान और धनुष को भी लीड रोल में लिया है.

जानकारी के लिए आपको बता दे आनंद एल राय पिछले साल कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे.हालांकि, कुछ वक्त के बाद वह ठीक हो गए थे. आनंद एल राय ने आखिरी फिल्म जीरो डायरेक्ट की थी. शाह रुख खान स्टारर यह फिल्म बॉक्स ऑफिस में कुछ खास कमाल नहीं कर पाई थीं.

आनंद एल राय, बॉलिवुड के गिने-चुने डायरेक्‍टर्स में हैं जो ‘रीमेक के इस दौर’ में नई और असल कहानियों पर काम करना ज्‍यादा पसंद करते हैं.28 जून 2021 को आनंद एल राय 49 साल के हो गए हैं.साधारण, मिडिल क्‍लास लोगों की कहानियों को आनंद एल राय ने पर्दे पर नया नजरिया दिया है.फिर चाहे, ‘तनु वेड्स मनु’ हो या ‘रांझणा’, ‘जीरो’ हो या ‘निल बटे सन्‍नाटा’, आनंद एल राय ने डायरेक्‍टर और प्रड्यूसर के तौर पर हमेशा नई कहानी को ही चुना। वह खुद भी बड़े साधारण अंदाज में जीवन जीते हैं, आनंद कहते हैं कि यदि वह साधारण जिंदगी नहीं जिएंगे तो अपने अंदाज में फिल्‍में नहीं बना पाएंगे.यह दिलचस्‍प है कि आनंद एल राय कभी इंजीनियरिंग कर कॉरपोरेट जॉब करते थे। लेकिन ‘थ्री इडियट्स’ के फरहान की तरह उन्‍होंने कॉरपोरेट को छोड़ क्रिएटिव होना ज्‍यादा पसंद किया.लेकिन जिंदगी में एक मोड़ ऐसा भी आया, जब उन्‍होंने फिल्‍मों को हमेशा के लिए अलविदा कहने का मन बना लिया था.


आनंद एल. राय दिल्‍ली से हैं.साल 1971 में दिल्‍ली के एक मिडिल क्‍लास फैमिली में उनका जन्‍म हुआ.1947 के विभाजन में उनकी फैमिली सिंध से देहरादून आ गई थी.असली सरनेम रायसिंघानी था.देहरादून से फिर दिल्‍ली का सफर तय हुआ.आनंद एल राय ने दिल्‍ली से ही स्‍कूलिंग करने के बाद आनंद ने औरंगाबाद से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की.इसके बाद उन्‍होंने बतौर इंजीनियर नौकरी भी शुरू की.लेकिन दिल में कुछ और करने की चाहत थी.इसलिए नौकरी छोड़ मुंबई आ गए.

आनंद एल राय के बड़े भाई रवि राय ने कई टीवी सीरीज का डायरेक्‍शन किया है.लिहाजा अपनी क्रिएटिविटी को तकनीकी समझ देने के लिए उन्‍होंने मुंबई आकर अपने भाई को असिस्‍ट करना शुरू किया.टीवी सीरियल ‘इम्तिहान’ में उन्‍होंने भाई रवि राय के साथ बतौर अससिस्‍टेंट डायरेक्‍टर काम किया.साल 2007 में आनंद एल राय ने एक साइकोलॉजिकल थ्र‍िलर फिल्‍म ‘स्‍ट्रेंजर्स’ से बतौर डायरेक्‍टर डेब्‍यू किया.इस फिल्‍म में जिमी शेरगिल लीड रोल में थे.इसके साथ वह 2008 में ‘थोड़ी लाइफ थोड़ा मैजिक’ लेकर आए.लेकिन ये दोनों ही फिल्‍में बॉक्‍स ऑफिस पर पिट गईं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *