300 किलो सोना दान करेगा अंबानी परिवार, ईशा के बच्चों के लिए डिजाइन करवाई BMW की सीट

दोस्तों मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की बेटी ईशा अंबानी ने 19 नवंबर को जुड़वा बच्चों को जन्म दिया था। डिलीवरी के वक्त ईशा कैलिफोर्निया के लॉस एंजेलिस के सेडर सेनाई में थी। आज एक महीने के बाद ईशा अपने बच्चों, कृष्णा और आदिया को लेकर मुंबई लौटी हैं। अंबानी परिवार ने बच्चों और ईशा का भव्य स्वागत किया है। विरल भयानी ने इंस्टाग्राम पेज पर इस खास पल का वीडियो शेयर किया है। जिसमें पूरा परिवार ईशा और उनके बच्चों के स्वागत में जुटा है। क्योंकि अपने बच्चों के साथ ईशा पहली बार भारत लौटी हैं, इसीलिए बड़े-बड़े मंदिरों के पंडितों को पूजा के लिए बुलाया गया है।

बताया जा रहा है कि नाना बनने की खुशी में मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी 300 किलो सोना दान करने वाले हैं। इस खास मौके पर काफी तैयारियां की गई हैं। लजीज खाने से लेकर स्पेशल प्रसाद की व्यवस्था की गई है। जानकारी के मुताबिक तिरुपति बालाजी, तिरुमाला, श्रीनाथजी, नाथद्वारा और श्री द्वारकाधीश का प्रसाद बच्चों के स्वागत में बांटा जाएगा।

ईशा और बच्चों को कतर की फ्लाइट से भेजा गया है। उनकी देख-रेख के लिए मुंबई के बड़े डॉक्टर्स को लॉस एंजेलिस भेजा गया था। जो ईशा के साथ-साथ मुंबई आए हैं। अमेरिका के बेस्ट बाल रोग विशेषज्ञों में से एक, डॉ. गिब्सन भी डॉक्टरों के इस ग्रुप के साथ जुड़वा बच्चों की पहली उड़ान सुरक्षित और स्वस्थ सुनिश्चित करने के लिए साथ में रहे।

बच्चों के लिए हर इंतजाम को बेहद खास किया गया है। उनका फर्नीचर लोरो पियाना, हर्मीस और डायर जैसी बड़ी कंपनी द्वारा डिजाइन किया गया है। जुड़वा बच्चों के लिए डोल्से एंड गब्बाना, गुच्ची और लोरो पियाना जैसे विश्व प्रसिद्ध डिजाइन हाउस की चिल्ड्रन लाइन के स्पोर्टिंग कपड़े तैयार करवाए जाएंगे। इतना ही नहीं उनके लिए बीएमडब्ल्यू द्वारा विशेष रूप से डिजाइन की गई कार सीटें लगवाई गई हैं। जुड़वा बच्चों की देखभाल के लिए अमेरिका से 8 नैनी भी लाई गई हैं। जो यूएसए से बच्चों के साथ आई हैं और यहां उनकी देखभाल करेंगी।

 

Related Posts