Breaking News
Home / बॉलीवुड / जो जीता वही सिकंदर’ में कैसे शूट हुआ था आमिर के भांजे इमरान का सीन? दिलचस्प है कहानी

जो जीता वही सिकंदर’ में कैसे शूट हुआ था आमिर के भांजे इमरान का सीन? दिलचस्प है कहानी

आमिर खान के भांजे इमरान खान बॉलीवुड से दूर गुमनामी की जिंदगी जी रहे हैं। इमरान ने साल 2008 में आई फिल्म ‘जाने तू या जाने ना’ फिल्म से जेनेलिया के साथ अपने करियर की शुरुआत की थी। यह फिल्म तो हिट हुई और इमरान का करियर भी ठीक-ठाक चल पड़ा। इस फिल्म के बाद इमरान कई सारी फिल्मों में नजर आए लेकिन अपने मामा आमिर खान की तरह इंडस्ट्री में कुछ खास जगह नहीं बना पाए। इमरान खान आज अपना 36वां जन्मदिन मना रहे हैं तो चलिए आपको इमरान खान के बारे में कुछ बातें बताते हैं।

इमरान खान का जन्म यूएस में हुआ था। बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे कि जब इमरान महज डेढ़ साल के थे तो इनके पेरेंट्स एक दूसरे से अलग हो गए थे। इमरान अपनी मां के साथ ही रहे। इमरान खान फिल्मी बैकग्राउंड से जुड़े हुए हैं लेकिन वह वो मुकाम हासिल नहीं कर पाए जो किसी स्टार किड को मिलता है। इमरान को बॉलीवुड में 11 साल हो चुके है लेकिन साल 2015 के बाद उनकी एक भी फिल्म रिलीज नहीं हुई।

इमरान खान ने बॉलीवुड में बतौर चाइल्ड एक्टर काम करना शुरू किया था। आमिर खान की सुपरहिट फिल्म ‘कयामत से कयामत तक’ फिल्म में इमरान ने आमिर खान के बचपन का किरदार निभाया था। यह फिल्म साल 1988 में रिलीज हुई थी। इसके बाद 4 साल बाद इमरान ने ‘जो जीता वही सिकंदर’ फिल्म में नजर आए। इस फिल्म में भी आमिर लीड रोल में थे जिसमें इमरान ने उनके बचपन का किरदार निभाया था। लेकिन फिल्म में साइकल चलाते हुए पैंट के नीचे उतरने वाला सीन काफी चर्चित रहा था.इमरान ने बताया कि फिल्म मिलना मेरे लिए स्कूल से बाहर आने का एक बहाना था. एक्टिंग बस एक पार्ट थी. इस पर आमिर खान पैंट के नीचे उतरने वाले सीन के बारे मे इमरान को पता ही नहीं था कि उसमें क्या होने वाला है. उस शॉट में हम इसकी पैंट नीचे खींच देंगे, इसे इसके बारे में कुछ बताया ही नहीं गया था. हमने सिर्फ इस इसको बोला कि तुम्हें साइकलिंग करनी है और उसकी सीट पर खड़ा होना है.

इमरान कहते हैं कि वह केवल इतनी सी बात नहीं थी कि तुम्हें अपनी साइकल की सीट पर खड़ा होना है. मुझे कहा कि इमरान क्या तुम साइकल के पेडल्स पर खड़े हो सकतेसाइकलिंग करते हुए? मैंने कहा हां, क्यों नहीं, इसमें क्या है? उन्होंने कहा कि तुम नहीं कर सकते, मैंने कहा कि मैं कर सकता हूं. इतने में डायरेक्टर ने कहा चलो फिर करके दिखाओ. और मेरी पैंट्स नीचे खींच दी इन लोगों ने. सीन के बाद यह उस बच्चे को मारने के लिए भागा था और काफी गुस्से में था. उस सीन का कोई रीटेक नहीं हुआ था. वह सिंगल टेक शॉट था. और सीन के बाद इमरान रोने लगा था- आमिर ने कहा. असल में इस शॉट का आइडिया आमिर खान का था.जिसके बारे में इमरान को काफी बाद में पता चला. बीच में डायरेक्टर और कोरियोग्राफर फराह खान कहती हैं कि हम तुम्हें फिल्म ‘डेली बेली’ के लिए तैयार कर रहे थे.

इमरान कहते हैं कि वह शूट मेरे लिए काफी मजेदार रहा. सेट पर काफी मस्ती की. हम में से किसी ने भी एक्टिंग या सीन के बारे में बात नहीं की थी. बस एक टेक में उसे ले लिया था. मेरे लिए वह एक्सपीरियंस केवल स्कूल से बाहर आने का एक बहाना बना था. स्कूल में मुझे याद है मैं बैठा हुआ था और क्लास में अचानक से टीचर आया और कहता था कि इमरान प्रिंसिपल के ऑफिस में, मैं सोचने लगा कि आखिर मैंने क्या किया है ऐसा? मैं वहां गया और अपनी मां को देखा. वह काफी सीरियस बैठी थीं. मुझे कहा गया कि फैमिली इमरजेंसी है, तुम्हें जाना पड़ेगा. मैं स्कूल से मां के साथ बाहर जा रहा था और पूछ रहा था क्या हुआ? मां ने कहा चुपचाप चलते रहो. हम गाड़ी में बैठे और उन्होंने कहा कि हम मड आइलैंड जा रहे हैं, शूटिंग के लिए. मैं शॉक्ड रह गया. मैं उस दिन आमिर मामू और मंसूर मामू के साथ हैंगआउट कर रहा था, मां थीं. पूरा परिवार था और वह फिल्म सेट हमारे लिए एक परिवार का साथ होना जैसा था.

इसके बाद इमरान बतौर लीड एक्टर कई सारी फिल्मों में नजर आए। इन फिल्मों में ‘जाने तू या जाने ना’, ‘किडनैप’, ‘लक’, ‘आई हेट लव स्टोरी’, ‘ब्रेक के बाद’, ‘डेली बेली’, ‘मेरे ब्रदर की दुल्हन’, ‘एक मैं और एक तू’ और ‘गोरी तेरे प्यार में’ जैसी फिल्में शामिल हैं। इनसे से कुछ फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर ठीक-ठाक बिजनेस किया और बाकी फिल्में मुंह के बल गिरी।

sorce

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *