सिक्किम में वीर जवान अरविंद के शहिद होने के 10 दिन बाद ही दिया उनकी पत्नी ने बेटे को जन्म, देखकर लोग बोले लौट आया फ़ौजी अपने बेटे के रूप में

दोस्तों हरियाणा के दादरी जिला के गांव झोझू कलां का लाल अरविंद सांगवान सिक्कि में सड़क हादसे में शहीद हो गया. अरविंद की शहादत की खबर लगने के बाद पूरे गांव व क्षेत्र में शोक की लहर है. शुक्रवार देर रात परिजनों को अरविंद के शहीद होने का समाचार मिला था. उसके बाद से ही घर में चीख-पुकार मची हुई है. अरविंद कुमार राजपूत राइफल्स में तैनात था और 10 दिन पहले ही छुट्टी काटकर ड्यूटी पर गया था. शहीद का पार्थिव शरीर रविवार को गांव पहुंचा है, जहां राजकीय सम्मान के साथ उसकी अंत्येष्टि होनी है.

चरखी दादरी जिले के गांव झोझू कलां के किसान राजेंद्र सिंह का 37 वर्षीय बेटा अरविंद सांगवान सिक्किम में तैनात था. शुक्रवार को सिक्किम के जेमा में आर्मी का ट्रक खाई में गिर गया, जिसमें 16 जवानों की मौत हो गई.बताया जा रहा है कि जवानों से भरी बस एक एक तीखे मोड़ पर फिसल गई और सीधी जाकर खाई में जा गिरी थी और सेना की रेस्क्यू टीम ने 4 घायल जवानों को एयरलिफ्ट कर अस्पताल में भर्ती कराया. इस बीच 16 जवानों ने दम तोड़ दिया. अरविंद के शहीद होने की जानकारी मिली तो उनके घर पर लोगों का सांत्वना देने के लिए तांता लग गया.

शहीद के पिता राजेंद्र सिंह ने बताया कि 12 दिसंबर को छुट्टी काटकर वापस ड्यूटी पर गया था और मार्च माह में आर्मी से सेवानिवृत्ति लेना चाहता था. शहीद की गर्भवती पत्नी पिंकी देवी का रो-रोकर बुरा हाल है वहीं आठ साल का बेटा पिता के आने की बाट जोह रहा है. पिता ने कहा कि बेटा जाने का गम जरूर है, मगर उसे नाज है कि बेटा ने देश के लिए कुर्बानी दी है। वह अपने पोता को भी फौजी बनाएंगे. चचेरा भाई अजय नंबरदार व सरपंच अशोक बंटी ने संयुक्त रूप से कहा कि अरविंद 15 साल पहले सेना में भर्ती हुआ था. मृतक अरविंद की पत्नी भी हरियाणा पुलिस में है. गांव के बेटे ने देश को कुबार्नी दी है. देर रात जैसे ही शहीद होने की सूचना मिली तो गांव में गमगीन माहौल हो गया.

Related Posts