Breaking News
Home / दुनिया / मदर्स डे 2021 कमला हैरिस की मां की कहानी जिन्होंने कमला की रगों में क्रांति की चिंगारी भर दी……

मदर्स डे 2021 कमला हैरिस की मां की कहानी जिन्होंने कमला की रगों में क्रांति की चिंगारी भर दी……

वाशिंगटन. 9 मई मां से बड़ा दुनिया में कोई बड़ा योद्धा नहीं होता. एक फिल्म का यह डायलॉग सिर्फ एक डायलॉग ही नहीं बल्कि एक मा की संघर्ष की विस्तृत जानकारी है. एक मां अपने बच्चे को पालती है तो उससे ज्यादा मजबूत कोई नहीं होता है. और इसका अंदाजा अमेरिका के उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को देखकर आप आराम से लगा सकते हैं.कमला हैरिस अमेरिका की दूसरी सबसे शक्तिशाली शख्सियत है. लेकिन उनके पीछे मां का आशीर्वाद बहुत है.और इस बात को कमला हैरिस हर मंच पर स्वीकारती रहती है.और कहती है कि आज वह जो कुछ भी है उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ उनकी मां का बहुत योगदान है.

20 जनवरी 2021. अमेरिका में नई सरकार का शपथ ग्रहण हो रहा था.और राष्ट्रपति जो बाईडेन के बाद शपथ लेने आई कमला हैरिस. कमला हैरिस ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद जो कुछ कहां वो इतिहास में हमेशा हमेशा के लिए दर्ज हो गया. कमला हैरिस ने कहा था कि सिर्फ 19 साल की उम्र में उनकी मां भारत से अमेरिका आ गई थी.और उस वक्त उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी. कि एक वक्त ऐसा भी आएगा जब मेरी बेटी कमला सबसे पुराने लोकतंत्र में दूसरी सबसे शक्तिशाली नेता होंगी. कमला हैरिस ने कहा कि मैं आज यहां हूं लेकिन यहां मेरी मौजूदगी के पीछे जिस महिला का सबसे बड़ा हाथ है. वह हाथ है मेरी मां का. कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन जो भारत के तमिलनाडु की रहने वाली थी.श्यामला गोपालन बहुत छोटी उम्र महज 19 साल की उम्र में अमेरिका आ गई थी.जहां उन्होंने जमैकन मूल के अश्वेत डोनाल्ड हैरिस से शादी की थी. जिसकी वजह से कमला हैरिस का बचपन भारत और जमैका दोनों जगह पर बीता.कमला हैरिस उन नेताओं में से एक है जो तीन अलग-अलग कल्चर भारत.अमेरिका और जमैकन में पली-बढ़ी.

कमला हैरिस की मां ने अमेरिका में बहुत ज्यादा संघर्ष किया. कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन का संघर्ष उनकी लव स्टोरी और और लाइफ किसी रोमांचक कहानी से भरपूर रही.कमला हेरीश की मां श्यामला गोपालन तमिलनाडु के तिरुवरूर जिले के मन्नारगुड़ी के पास पिंगनाडु की रहने वाली थी.लेकिन अब कमला हैरिस की मां का कोई भी रिश्तेदार इस गांव में नहीं रहता है.कमला हैरिस की मां हायर एजुकेशन के लिए दिल्ली चली गई थी.और बाद में आगे की पढ़ाई के लिए कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी चली गई थी.

कमला हैरिस की मां पढ़ाई पूरा करने के बाद वापस भारत लौट आई थी.जहां वह अपने माता-पिता की मर्जी से शादी करने वाली थी.लेकिन एक घटना ने उनकी पूरी जिंदगी को बदल दिया था.और वह हमेशा के लिए अमेरिका की होकर रह गई थी.अमेरिका में 1950 के आसपास सिविल संघर्ष शुरू हो गया था. अमेरिका में ब्लैक मूवमेंट काफी ज्यादा जोर पकड़ा हुआ था. और श्यामला गोपालन भी इस आंदोलन में कूद चुकी थी. श्यामला गोपालन धीरे धीरे इस आंदोलन में बहुत ज्यादा सक्रिय हो चुकी थी. और आंदोलन के दौरान ही उनकी मुलाकात डाउनलोड हैरी से हो गई. डोनाल्ड हैरिस अमेरिका पढ़ने आए हुए थे.आंदोलन के दौरान ही दोनों में प्यार होता चला गया. कमला हैरिस की मां ब्राह्मण थी.मगर उन्होंने सामाजिक रीति रिवाज को तोड़ते हुए उस लड़के से शादी की जो ना ब्राह्मण था और ना ही भारतीय था. उस जमाने के हिसाब से कमला हैरिस की मां ने बहुत बड़ा कदम उठाया था.हालांकि कई रिपोर्ट में कहा जाता है कि कमला हैरिस के पिता सांस्कृतिक तो थे मगर कटटर नहीं थे.

लेकिन शादी के कई सालों के बाद दोनों का तलाक हो गया था. कमला हैरीश ने एक बार बताया था कि जब उनके माता-पिता का तलाक हुआ था.तो वह किसी और बात पर नहीं किताबों को लेकर झगड़े थे.उनका कहना था कि किताब किसके हिस्से में आएगी.कहते हैं कि आंदोलन तो कमला हैरिस के खून में भरा है.कमला हैरिस की मां और पिता दोनों एक आंदोलनकारी थे और कमला हैरिस के खून में भी आंदोलन कूट-कूट कर भरा हुआ है. हर मुद्दे पर निडर होकर अपनी बात रखना कमला हैरिस का सबसे बड़ा स्वभाव माना जाता है.और इसी स्वभाव की बदौलत अमेरिका की राजनीति में कमला हैरिस लगातार धीरे-धीरे आगे बढ़ती चली गई. कमला हैरिस के नाना बीवी गोपालन भारत में एक स्वतंत्रता सेनानी थे.कमला की मां ने अमेरिका में ब्लैक आंदोलन में भी योगदान दिया है.और उनकी मां जिक्र कमला हैरिस ने खुद अपनी किताब स्मार्ट और क्राइम में किया है.वहीं कमला हैरिस की नानी भी कई आंदोलनों में शामिल हो चुकी है.अपनी किताब में कमला हैरिस ने कहा है. कि उनके ऊपर उनके पिता से ज्यादा उनकी मां का ज्यादा असर है. क्योंकि उनकी मां ने शुरू से ही सामाजिक बंधनों को तोड़ा.और बेटियों को भी उन्होंने सही संस्कार दिए.अपनी एक इंस्टाग्राम पोस्ट में कमला हैरिस ने लिखा था. कि मैं एक ऐसी मां की बेटी हूं जिन्होंने सभी सामाजिक बंधनों को तोड़ा था.2009 में कमला हैरिस की मां श्यामला गोपालन का कैंसर होने से निधन हो गया था. मगर कमला हैरिस अपनी मां को भूल ही नहीं है.और वह अपनी सफलता के पीछे अपनी मां का हाथ सबसे ज्यादा बताती है.

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *