मिलिए भारत के सबसे लंबे परिवार से, इनके कपड़ों से लेकर जूतों तक का साइज़ नहीं मिलता आसानी से

दोस्तों हर एक व्यक्ति चाहता है कि वह खूबसूरत चेहरे के साथ-साथ लंबी हाइट का हो, ताकि उसकी पर्सनालिटी सबसे आकर्षक लगे। यही वज़ह है कि माता-पिता बचपन से ही बच्चों की लंबी हाइट के लिए उन्हें दूध में तरह-तरह की चीजें मिलाकर पिलाते हैं। इसके साथ ही यह भी माना जाता है कि ज़्यादा कसरत और खेल कूद करने से भी बच्चों की हाइट बढ़ती है, जिसकी वज़ह से कई बच्चे अपने बचपन में दीवारों से या झूलों से लटकते हैं। लेकिन इंसान की हाइट उसके लटकने या खाने पीने से ही नहीं बल्कि उसके पारिवारिक जीन्स से बढ़ती हैं। यही वज़ह है कि जिन परिवारों में माता-पिता या दादा-दादी की लंबाई ज़्यादा होती है, उस घर में जन्म लेने वाले बच्चे भी अच्छी हाइट के मालिक होते हैं। वहीं कुछ परिवारों में परिजनों की हाइट कम होने की वज़ह से बच्चों भी लंबाई भी छोटी रह जाती है, जो एक जेनेटिकल प्रोसेस है।

 

अब बात जब लंबाई की हो रही है, तो भारत में रहने वाले कुलकर्णी परिवार का ज़िक्र न किया जाए ऐसा तो हो ही नहीं सकता है। इस परिवार के सबसे छोटे सदस्य की हाइट भी 6 फीट 4 इंच है, यही वजह है की कुलकर्णी परिवार ने एक अनोखा रिकॉर्ड क़ायम किया है। महाराष्ट्र से सटे पुणे शहर में रहने वाली इस फैमिली के मुखिया शरद कुलकर्णी हैं, जिनकी लंबाई 7 फीट 1.5 इंच है। वहीं उनकी पत्नी संजोत कुलकर्णी की लंबाई 6 फीट 2.6 इंच है, यही वज़ह है कि इस कपल के नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है। दरअसल साल 1989 में शरद और संजोत कुलकर्णी को दुनिया का सबसे लंबा कपल होने का खिताब दिया गया था, जिसकी वज़ह से इनका नाम लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया था।

 

शरद कुलकर्णी ने अपनी लंबी हाइट के चलते किशोरावस्था में ही स्पोर्ट्स ज्वाइन कर लिया था, जिसके बाद उन्होंने देश के लिए बास्केट बॉल के मैच भी खेले। हालांकि एक दूसरे से मिलने से शरद और संजोत का लगता था कि उनकी शादी नहीं होगी, क्योंकि उन्हें अपनी हाइट वाला पार्टनर नहीं मिल पाएगा। लेकिन साल 1988 में शरद और संजोत की शादी हो गई, जिसके बाद भारत के सबसे लंबे कपल ने दो बेटियों को जन्म दिया। उनकी बड़ी बेटी का मुरूगा है, जिसकी हाइट 6 फीट 1 इंच है। जबकि छोटी बेटी का नाम सान्या है और उनकी लंबाई 6 फीट 4 इंच है.पुणे में कुलकर्णी परिवार अपनी लंबी हाइट को लेकर काफ़ी ज़्यादा मशहूर है, जिन्हें हज़ार लोगों की भीड़ में भी आसानी से पहचाना जा सकता है। यही वज़ह है कि कुलकर्णी फैमिली के लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल नहीं करते हैं, क्योंकि लोग उन्हें असामान्य नजरों से देखते हैं।

कुलकर्णी परिवार भले ही अपनी लंबी हाइट की वज़ह से पुणे समेत पूरे भारत में मशहूर हो गया हो, लेकिन इस परिवार के सदस्यों को छोटी मोटी ज़रूरतों को पूरा करने लिए थोड़ी बहुत परेशानी भी झेलनी पड़ती है। सामान्य से ज़्यादा हाइट होने की वज़ह से कुलकर्मी फैमिली के लोगों को उनके शरीर के साइज के कपड़े नहीं मिलते हैं, इसके साथ ही उनके पैरों का आकार भी काफ़ी बड़ा है। यही वज़ह है उन्हें यूरोपीय देशों से अपने साइज के कपड़े और जूते ऑर्डर करने पड़ते हैं।

Related Posts