Breaking News
Home / दुनिया / कोरोना काल में बनी मिसाल, लावारिस शवों के लिए महिला ने छोड़ी नर्स की नौकरी, पति के साथ करती है अंतिम संस्कार –

कोरोना काल में बनी मिसाल, लावारिस शवों के लिए महिला ने छोड़ी नर्स की नौकरी, पति के साथ करती है अंतिम संस्कार –

दुनिया में आज भी कोरोना का कहर जारी है और कोरोना से जंग लड़ने के लिए अनेक लोगों ने दूसरों की मदद के लिए आगे बढ़ाया है इनमें से एक महिला ऐसे भी हैं जिन्होंने इस कोरोना काल में दूसरों की मदद करने के लिए अपनी नौकरी भी छोड़ दी l और पूरी दुनिया के सामने एक मिसाल बन गई l महिला का नाम है मधुस्मिता पुष्टि ल मधुस्मिता एक नर्स है जो कोलकाता के फोर्टिस अस्पताल के बाल रोग विभाग में काम करती है l मधुस्मिता ने 2011 से लेकर 2019 तक फोर्टिस हॉस्पिटल में काम किया थाl

और उनका वेतन भी काफी अच्छा था l और उन्होंने अपने करियर में अनेक लोगों की मदद की l लेकिन अब मधुस्मिता कोरोनावायरस में अपनी नौकरी छोड़कर भुवनेश्वर मे कोरोनावायरस से पीड़ित लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर रही है, मधुस्मिता के पति प्रदीप कुमार 11 साल से लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर रहे थे l प्रदीप कुमार समाज सेवा के लिए एक ट्रस्ट आते हैं.

मधुस्मिता ने एक न्यूज़ एजेंसी को बताया मैं ओड़ीसा से लौटने के बाद से अपने पति के साथ लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कर रही हूं l और उन्होंने बताया कि मेरे प्रति प्रदीप कुमार 11 साल से यह काम कर रहे हैंl लेकिन इस समय उनके पैर में चोट लगी है इस कारण से यह अपना काम नहीं कर पा रहे थे l तब मैंने फैसला किया कि मैं भी अपने पति के साथ इस महत्वपूर्ण कार्य में सहयोग करूंगी .

मधुस्मिता ने यह भी कहा कि मैं – 300 अधिक कोरोनावायरस से पीड़ित शवों का अंतिम संस्कार कर चुकी हूं और भुवनेश्वर में पिछले ढाई साल में 500 शवों का अंतिम संस्कार कर चुकी हूं l और मधु स्मिता ने कहा- भुवनेश्वर के नगर निगम के साथ हमने एक समझौता किया है l जिसमें हम कोविड शवो को हॉस्पिटल से श्मशान ले जाते हैं l

और उनका रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार करते हैं कुछ लोग मेरी निंदा और आलोचना करते हैं कि एक महिला होकर में इस प्रकार का काम कैसे कर सकती हूं? पर मैं इस आलोचना की परवाह नहीं करती हूं और मैंने आज तक यह काम जारी रखा है l

sorce

About Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *