25 साल की सजा काट रहे कैदी ने गणित की कठिन समस्या सुलझा दी, बड़े-बड़े गणितज्ञ भी हो गए थे फेल

भाग्य का लिखा कोई मिटा नहीं सकता कभी कभी भाग्य में इतनी कठिनाइयां आती है इतना बुरा समय आता है कि व्यक्ति टूट जाता है और भाग्य का जब बदलने का समय आता है और अगर कुछ अच्छाई ही लिखी होती है तो मिलकर ही रहती है.ऐसा ही क्रिस्टोफर नाम के एक कैदी के साथ हुआ जो कि जेल में 25 वर्षों की सजा काट रहा है. तो आइए हम आपको बतादे क्रिस्टोफर ने गणित का ऐसा एक कठिन सवाल हल कर दिखाया जिसको बड़े-बड़े गणितज्ञ भी देखकर हैरान रह गए.क्रिस्टोफर हेवन्स नाम का एक कैदी जेल में 25 वर्षों के लिए सजा काट रहा है।आपको बतादे वह अभी 9 वर्षों की सजा पूरी कर चुका है। जेल में रहते हुए ही क्रिस्टोफर ने ऐसा कारनामा करके दिखाया है जिसे देखकर बड़े से बड़े गणितज्ञ भी आश्चर्य चकित रह गए। क्रिस्टोफर ने प्राचीनतम गणित की एक बहुत बड़ी समस्या को अब हल कर दिखा दिया और सबको हैरान कर दिया है ।आज तक की खबरों के मुताबिक़ जेल में सभी कैदियों को पढ़ने के लिए किताबें दी जाती है। इसके पीछे का कारण यह है कि क़ैदी वह किताबें पढ़कर शायद सही रास्ते पर वापस लौट आए। क्रिस्टोफर भी उन सारी किताबों को पढ़ता रहता था। आपको बतादे कि क्रिस्टोफर ने अपने स्कूल की शिक्षा बीच में ही छोड़ दी थी। नौकरी ढूंढने पर नौकरी नही मिली जिसके बाद क्रिस्टोफर एडिक्ट हो गया। दुर्भाग्य वश  क्रिस्टोफर एक के मामले में दोषी ठहराया गया जिसके बाद उसे 25 वर्षों की सजा हो गई।

क्रिस्टोफर की उम्र अब 40 वर्ष है। जेल में रहते हुए क्रिस्टोफर ने बेसिक गणित से लेकर एडवांस लेवल के गणित के सवालों  तक को बखूबी हल करना सीख लिया । क्रिस्टोफर को जेल में नई नई किताब में पढ़ने की अनुमति है. लेकिन शर्त के अनुसार उसे अन्य कैदियों को भी पढ़ाना पड़ता है। क्रिस्टोफर ने एक दिन ‘एनल्स ऑफ मैथमेटिक्स’ के कुछ विषयों के संबंध में जेल से ही एक गणित प्रकाशक को पत्र लिखा और उनसे उन विषयों पर सवाल मांगे। क्रिस्टोफर यह जानना चाहता था कि उन सवालों का हल ढूंढ कर क्या वह खुद को इस कसौटी पर कस सकता है या नहीं।

खबरों के अनुसार क्रिस्टोफर ने जिस मैथमेटिकल साइंस पब्लिशर को पत्र भेजा था उस पब्लिशर ने वह पत्र उसके मित्र को भेज दिया। पब्लिशर के मित्र ने वह पत्र अपने पिता को दिया। मैथमेटिकल साइंस पब्लिशर के मित्र के पिता ट्यूरिन के अम्बर्टो सेरुती में गणित के प्रोफेसर थे। उन्होंने क्रिस्टोफर के जवाब में एक बहुत ही कठिन सवाल  लिखकर भेजा। क्रिस्टोफर ने 47 इंच लंबे कागज पर उस सवाल का जवाब लिखकर अम्बर्टो को डाक के द्वारा भेज दिया। क्रिस्टोफर ने उस कठिन सवाल का एकदम सटीक उत्तर लिखकर भेज दिया जिसे देख कर सभी गणितज्ञ बहुत ज़्यादा हैरान रह गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *